शेखर गुप्ता के करण जौहर पर अवॉर्ड फंक्शन में हस्तक्षेप करने के आरोप पर अमोल पालेकर ने कहा!

Filmy Masala

करन जौहर सुशांत सिंह राजपूत के मृतयु के बाद विवादों के दलदल से निकल नहीं पा रहे हैं। करन जौहर नेपोटिज्म को लेकर तो वह आलोचकों के निशाने पर थे ही अब करन जौहर पर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद खेमेबाजी करने के भी आरोप लगे हैं। पॉपुलर अवॉर्ड शोज में भी उनकी मनमानी की भी चर्चा रही थी। दिग्गज पत्रकार और स्तंभकार शेखर गुप्ता ने भी इस संडे इस ‘मनमानी’ की बात पर पुष्टि कर दी। शेखर गुप्ता ने यह आरोप लगाया है कि उस अवार्ड शो में ‘माय नेम इज खान’ के बदले विक्रमादित्‍य मोटवाणी की ‘उड़ान’ को ज्‍यादा नॉमिनेशन मिले तो इसी बात से करन जौहर काफ़ी नाराज हुए थे। उस अवार्ड शो में करन जौहर के कथित टैलेंट को भी कम बुलाया गया था।

इंडियन एक्सप्रेस समूह के मुख्य शेखर थे। समूह स्क्रीन अवार्ड नामक पॉपुलर अवार्ड शो उस समय शेखर आयोजित करता था। एक ऐसे ही आयोजन में अमोल पालेकर अवॉर्ड शो के ज्‍यूरी मेंबर थे। शेखर के अनुसार ज्‍यूरी मेंबर के तौर पर अमोल पालेकर जैसे निष्‍ठावान और प्रतिष्टित शख्‍स थे। करन जौहर का ऐतराज करना प्रतिभावन अमोल पालेकर जैसे व्यक्ति पर इंटेलिजेंस पर सवाल था। दैनिक भास्‍कर ने अमोल पालेकर से इस विषय पर संपर्क किया।

अमोल पालेकर ने मुस्कुराते हुए कहा, ‘मैं इस विषय पर कोई प्रतिक्रिया नही देना चाहता। जो चीज बीत गई है, उसके सालों बाद दोबारा बात करने की मुझे जरूरत तो नहीं लगती। ‘उड़ान’ फ़िल्म सेलेक्‍ट हुई थी। जो हुआ था, वह आपके सामने है और वही सत्‍य है।‘

नेशनल अवॉर्ड शो और पॉपुलर अवार्ड शो की तुलना से लेकर ऐसे आयोजन में प्रोड्यूसर विशेष की मोनोपॉली चलती रही है या नहीं, उस पर मैं कोई टिप्‍पणी नहीं करना चाहता। वह इसलिए कि पॉपुलर अवॉर्ड को शुरू हुए कितने साल गुजर गए । आज अवार्ड शो में होने वाले गड़बड़झाले की डिबेट में मैं पार्टिसिपेट नहीं लेना चाहता।

जब खुद मेरा करियर शुरू नहीं हुआ था , तब से यह अवार्ड शो है। नेशनल अवॉर्ड का अलग रुतबा और ओहदा था। चालीसों साल पुराना पॉपुलर अवार्ड शो का इतिहास है। इस विषय पर चर्चा आज और अब ही क्‍यों?‘

शेखर गुप्ता ने लगाए आरोप

शाहरुख खान की फिल्म ‘माय नेम इज खान’ को साल 2011 में हुए एक अवार्ड शो में नॉमिनेशन नहीं दिया गया था। इससे कारण करन जौहर और उनकी टीम मेंबर बहुत नाराज हुए थी और उन्होंने शेखर गुप्ता को कई कॉल करवाए। करन और शाहरुख उस शो के प्रेजेंटर थे ऐसे में माहौल काफी संगीन बन चुका था। पूरा मामला सुलझने के बाद में शाहरुख खान को पॉपुलर च्वाइस अवॉर्ड दिया गया। लोगों ने अमोल पालेकर का ज्यूरी मेंबर होना बताया था अवॉर्ड न मिलने के कारण ।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *