सिनेमाघर अगस्त में खुल सकते हैं, सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने भेजा प्रस्ताव

अनलॉक-2 , 31 जुलाई को खत्म हो रहा है। सरकार ने ऐसे में अनलॉक-3 की एसओपी बनाने की प्रक्रिया स्टार्ट कर दी है। सूत्रों की माने तो , इस बार इनमे से कई अन्य चीजों के साथ सिनेमा हॉल्स की सुरुआत को भी शामिल किया जा सकता है। प्रसारण मंत्रालय और सूचना की तरफ से इस विषय में एक सुझाव गृह मंत्रालय को भेजा गया है।

इस सुझाव में अगस्त में सिनेमा हॉल्स स्टार्ट करने की गुजारिश की गई है। शुक्रवार को प्रसारण सेक्रेटरी अमित खरे ने सीआईआई मीडिया कमिटी के साथ हुई क्लोज डोर बैठक में ये संकेत दिए। हालांकि, इस विषय पर अंतिम निर्णय होम सेक्रेटरी का होगा।

1 अगस्त से सिनेमा हॉल औपेन करने की सिफारिश

अमित खरे के अनुसार , उन्होंने गुजारिश की है कि सिनेमा हॉल्स को 1 अगस्त तक या तो कम से कम 31 अगस्त के आसपास दुबारा से खोलने की इजाजत दी जा सकती है। इसके लिए एक नियम भी बनाया गया है, इस नियम के अनुसार सलाह दी गई है कि पहली लाइन में अल्टरनेट सीट और उसकी दुसरे लाइन को खाली छोड़ा जाए और इसी रुप से आगे बढ़ाया जाए। अमित खरे के अनुसार, उनकी मंत्रालय ने दो मीटर की दूरी के नॉर्म को इजाजत देने की अपील की है। हालांकि, गृह मंत्रालय ने से इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

50 फीसदी ऑडियंस , सिनेमा हॉल के मालिक उमीद करते है ।

सिनेमा हॉल मालिकों की सूचना और प्रसारण मंत्रालय के साथ इस विषय पर मीटिंग हो चुकी है। वे मंत्रालय के नियम से संतुष्ट नहीं हैं। सिनेमा हॉल के मालिकों के कहना है कि अगर इस नियम से चलते हैं तो सिर्फ 25 प्रतिसत ऑडियंस ही ऑडिटोरियम में बैठ पाएगी। लेकिन वे चाहते हैं कि उन्हें 50 प्रतिसत ऑडियंस के साथ सिनेमा हॉल खोलने की अनुमति दी जाए।

अगर थिएटर्स खुले तो कुछ ऐसा होगा उनका स्वरूप

अगर सिनेमा हॉल्स खुलते हैं तो काफी कुछ बदला हुआ नजर आएगा। सिनेमा हॉल्स का रेगुलर सैनेटाइजेशन, पेपरलेस टिकट,साथ सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ ऑडियंस के मास्क के साथ एंट्री जैसे नियम लागू किए जाएंगे।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *