पटना के SP को क्वारंटाइन करने पर CM नीतीश कुमार ने कहा जो हुआ ठीक नही हुआ

एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस के इन्वेस्टिगेशन को लेकर बिहार पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस में तनाव खत्म होने का नाम नही ले रही है। सुशांत मामले की इन्वेस्टिगेशन करने के वास्ते रविवार को पटना सिटी के एसपी विनय तिवारी को जबरन क्वारंटीन किये जाने पर बिहार के डीजीपी ने अहम मीटिंग बुलाई है. इस मामले पर अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपनी बात रखी है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार पुलिस पूरी जिम्मेदारी से अपना काम कर रही है, इस स्थिति में यहां के एसपी को क्वारंटीन कर के रखना ठीक नहीं है।


आईपीएस विनय तिवारी को क्वारंटीन करने पर नीतीश कुमार ने कहा, “हमारे डीजीपी ने सारी बात बताई है. ये जो कुछ भी हुआ है वो सही नहीं हुआ है. जो हमारे पुलिस की जिम्मेदारी है यानी बिहार पुलिस का जो कर्तव्य है, वो हम पूरी जिम्मेदारी के साथ निभा रहे हैं.” वहीं, वही सीबीआई जांच को लेकर पूछे गए सवाल पर नीतीश कुमार ने कोई भी उत्तर देने से बचते दिखे. इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फैमिली की मांग पर CBI इन्वेस्टिगेशन की सिफारिश करने के लिए कहा था. उन्होंने कहा था कि अगर परिवार चाहे तो वह CBI जांच की सिफारिश करने को तैयार है।

Pic credit: Social media



आपको बता दे कि एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की छानबीन करने के लिए बिहार से पटना सिटी के एसपी विनय तिवारी मुम्बई पहुचे और उन्हें 15 अगस्त तक के लिए क्वारंटीन कर दिया गया है इसी के बाद ये माामला गरमाता जा रहा है, आपको ये भी बता दे की एसआरपीएफ के गोरेगांव के कैंप में विनय तिवारी को मुम्बई की पहली रात बितानी पड़ी. बिहार पुलिस ने विनय तिवारी को क्वारंटीन किये जाने पर नाराजगी जताई है. बिहार पुलिस के अनुसार है कि पटना सिटी के एसपी विनय तिवारी को क्वारंटीन नहीं बल्कि इस केस में हमारी जांच को रोकने के लिए विनय तिवारी को एक तरीके से हाउस अरेस्ट किया गया है. इस केस में बिहार पुलिस की जांच को रोकने के लिए जानबूझकर ये कदम उठाया गया है. 

बिहार के डीजेपी गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्विटर पर एक ट्वीट के द्वारा अपनी नाराजगी को जाहिर करते हुए लिखा, “आईपीएस ऑफिसर विनय तिवारी बिहार की पुलिस टीम का नेतृत्व करने के लिए आज पटना से मुंबई ऑफिशियल ड्यूटी के तहत गए थे , लेकिन बीएमसी के अधिकारियों द्वरा रात के 11 बजे जबरन विनय तिवारी को क्वारंटीन कर दिया. उनके अनुरोध के बावजूद भी उन्हें आईपीएस मेस नहीं दिया गया.”  



सूत्रों के अनुसार आईपीएस ऑफिसर्स मेस में रुकना चाहते थे, विनय तिवारी . इसके लिए उन्होंने अभिषेख त्रिमुखे जो की बांद्रा के डीसीपी है, उनसे बात की थी. डीसीपी 9 ने विनय को आईजी हेडक्वार्टर से संपर्क करवाया, जो उनके ठहरने के लिए एक रूम दिलवाते लेकिन जब विनय तिवारी मुम्बई पहुचे तो उसके बाद से आईजी हेडक्वार्टर ने उनका फोन रिसीव ही नहीं किया . 



सूत्रों के अनुसार क्योंकि मुंबई कमिश्नरेट है इसलिए डीसीपी कैंपस के पास उन्हें कोई साधन उपलब्ध कराने का उन्हें कोई अधिकार नहीं है. आईजी एडमिन से उन्होंने बात की. आईजी एडमिन का कहना है कि कोरोना संक्रमण की वजह से ऑफिसर्स मेस ऑपरेशन में अभी नहीं है और वहां पहले से ही वहाँ एक कोरोना संक्रमित पाया जा चुका है. इसी वजह से SRPF के गेस्ट हाउस में एसपी विनय तिवारी ठहराया गया है. मगर, बीएमसी के तरफ से ये बात भी सामने आ रही है की 15 अगस्त तक के लिए पटना के एसपी विनय तिवारी को होम क्वारंटीन किया गया है. 

Follow Filmy Masala for more updates

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *